PUBG MOBILE ने भारत में बने रहने के लिए अपने ‘चीनी टैग’ को हटाया

1
32
PUBG-mobile
PUBG-mobile

भारत में सबसे लोकप्रिय चाइनीस गेमिंग कंपनी PUBG MOBILE भारत में बने रहने के लिए अपनी उम्मीद नहीं छोड़ रहा है। हाल ही में PUBG Corporation पर लगे प्रतिबंध के बाद PUBG MOBILE के मूल निर्माता इसके समाधान की खोज कर रहे हैं। वे भारत में सरकार के साथ काम करने की उम्मीद कर रहे हैं। PUBG MOBILE ने भारतीय वर्जन के लिए अपने चीनी टैग को हटाने का फैसला किया है और वह चीन में स्थित Tencent Games को भारत में अपना फ्रेंचाइजी नहीं बनने देगा।

भारत में लगे प्रतिबंध पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए PUBG MOBILE गेम के मूल निर्माताओं ने कहा कि “PUBG Corporation ने यह फैसला किया है की Tencent Games अब पबजी मोबाइल को फ्रेंचाइजी के लिए अधिकृत नहीं करेगी, और PUBG Corporation भारत में पबजी मोबाइल गेम की सभी जिम्मेदारियां लेगी।

यह भी पढ़ें – Detel Easy ‘दुनिया की सबसे सस्ती’ इलेक्ट्रिक बाइक, चलाने के लिए लाइसेंस की जरूरत नहीं

इसका सीधा साधा अर्थ यह निकलता है कि PUBG Corporation अपने गेम PUBG MOBILE को पूरी तरह से भारत सरकार के नियम एवं शर्तो पर चलाएगी। इसके साथ ही यह गेम की सभी प्रकार की जिम्मेदारियां भी लेगी। अर्थात भारत का पूरा डाटा भारत में ही रहेगा और ऐसा करने के लिए PUBG Corporation खुद को प्रतिबद्ध करेगा

हम सभी लोग जानते हैं कि PLAYERUNKNOWN’S BATTLEGROUNDS (PUBG) का मोबाइल संस्करण है, जिसे एक दक्षिण कोरियाई गेमिंग कंपनी PUBG Corporation ने विकसित किया है। यह गेम पिछले वर्ष में सभी गेमिंग कंपनियों को पीछे छोड़ते हुए प्रथम नंबर पर अपना स्थान बनाए हुए हैं। यह गेम एक मल्टीप्लेयर गेम है जिसमें एक साथ कई लोग एक ही समय पर गेमिंग का एक्सपीरियंस ले सकते हैं। हालांकि ऐसे कई मल्टीप्लेयर गेम ऑनलाइन उपलब्ध है परंतु PUBG MOBILE जैसा एक्सपीरियंस अभी तक किसी भी गेम का नहीं है।

PUBG-mobile
PUBG-mobile

PUBG MOBILE नें भारत सरकार का किया समर्थन

भारत सरकार ने हाल ही में PUBG सहित 118 मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसका सबसे बड़ा कारण भारतीय उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा, गोपनीयता निगरानी और पर्सनल डाटा माना जाता है। बीते वर्षों में चीन से बिगड़ते संबंधों के कारण, सुरक्षा और डाटा की गोपनीयता को बनाए रखने के लिए यह कदम उठाया गया है। PUBG Corporation ने सरकार द्वारा उठाए गए इस कदम का समर्थन भी किया है और उनका यह भी मानना है कि डाटा की गोपनीयता और सुरक्षा सभी सरकारों के लिए प्राथमिक कार्य होना चाहिए।

चीन के प्रत्येक ऐप और चीन से जुड़े प्रत्येक सर्वर पर चीनी सरकार की निगरानी होती है। चीन में यह नियम है कि वहां की सरकार जब चाहे तब किसी भी सरवर और ऐप का पूरा डाटा देख सकती है। अतः चीन से बिगड़ते हुए संबंधों के कारण भारतीय उपयोगकर्ताओं के गोपनीय डाटा का गलत उपयोग भी हो सकता है। इन्हीं सब कारणों को मद्देनजर रखते हुए सरकार ने PUBG MOBILE सहित 118 मोबाइल एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है।

इस विषय में आप अपने विचार नीचे कमेंट के माध्यम से अवश्य साझा करें। पबजी से जुड़े बड़ी खबरों के लिए बने रहे हमारे साथ।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here